स्वयंसेवी बनें

स्वयंसेवी बनें

हमारी छात्रवृत्ति योजना के सूत्रधार के रूप में स्वयंसेवक, कार्यक्रम क्रियान्वयन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है। हमसे जुड़ने के लिए उनकी योग्यता / पात्रता की शर्ते निम्नवत है :

सूत्रधार / स्वयंसेवक

सभी सूत्रधार अमेरिका स्थित समन्वयक संस्था की सहमति के आधार पर नियुक्त किये जाते है।
मुख्य शर्त यह है सूत्रधार के रूप में साथ आने वाले व्यक्ति या महिलाये भारत में निवास कर रहे हो , उन्हें भारतीय शिक्षा क्षेत्र की गहन गहन जानकारी हो और इस शिक्षा क्षेत्र में साधन विहीन, आर्थिक विपन्नता झेल रहे मेधावी छात्रों को क्या चुनोतिया झेलनी पड़ती है , इस बात का अहसास हो। वर्तमान में, भारत के विभिन्न राज्यों में 500 से अधिक सक्रिय फैसिलिटेटर GRDS के साथ जुड़े हुए है।
एक सूत्रधार के रूप में ऐसे सभी लोगो की मुख्य भूमिकाये निम्नवत है

  • सहायता के लिए पात्र छात्रों को पहचानें
  • छात्र / छात्रा के प्रार्थना पत्रों को एक जगह सकिलित करे
  • छात्र / छात्रा की प्रामाणिक आर्थिक जरूरत के अनुसार धन का अनुसंचरण करे / करवाए
  • छात्र / छात्रा और उसके परिजनों के प्रति विद्वान संरक्षक की भूमिका निभाए
  • छात्र / छात्र /परिजन के साथ साथ GRDS को भी भारतीय शिक्षा क्षेत्र से सम्बन्ध में अपनी विद्वता पूर्ण जानकारी साझा करते रहे

GRDS ऐसे सभी सूत्रधारों का खुले दिल से स्वागत करता है जैसी हमारी छात्रवृत्ति योजना का उत्तर भारत तथा उत्तरपूर्व भारत में ज्यादा से ज्यादा प्रचार एवं प्रसार कर सके।

विपणन, प्रचार और मीडिया सम्बन्धी स्वयंसेवक

GRDS फाउंडेशन को अपने विपणन, प्रचार और मीडिया संबंंधी गतिविधियों के लिए स्वयंसेवकों की जरूरत होती है। इन आवश्यकताओं में शामिल हैं:

  • बाज़ार सहायक और ब्रोशर, समाचार पत्र, विज्ञापन, वीडियो, स्लाइड प्रदर्शन, आदि सहित प्रचार सामग्री तैयार करना
  • व्यावसायिक और सामाजिक नेटवर्क समूहों पर फाउंडेशन को बढ़ावा देने सहित
  • ई-विपणन का विकास करना और एक मीडिया संबंधों कार्यक्रम को लागू करना
  • योजना, प्रबंधन और कार्यान्वयन

हाई स्कूल और कॉलेज के छात्रों के उपयुक्त स्वयंसेवी कार्यक्रम

हाई स्कूल स्वयंसेवक के लिए जो अवसर उपलब्ध है उनमे सामुदायिक पहुंच,, वेब डिजाइन और प्रबंधन, ग्राफिक्स डिजाइन, और कार्यालय प्रशासन के लिए उपलब्ध हैं। अधिक जानकारी के लिए हमें संपर्क करें

  • ऐसे छात्रों की आवश्यकता उच्च विद्यालय के छात्रों से जोड़ने के लिए करना है खासकर वह छात्र जो शोषित, वंचित और निम्न मध्यम वर्ग से ताल्लुक रखते है
  • GRDS के कार्यक्रमों के प्रति छात्रों में जागरूकता और सामाजिक जिम्मेदारी की भावना को बढ़ाने के कार्य करना ।
  • स्वयंसेवकों को छात्र धन जुटाने के लिए भी प्रोत्साहित किया जाता है।
Contact Us

We're not around right now. But you can send us an email and we'll get back to you, asap.

Not readable? Change text. captcha txt